Saturday, 16 August 2014

एक महीना हो चला है

ब्लॉग लिखना शुरू किये हुए आज एक महीना हो चला है, यकीन कर पाना मुश्किल है, की मैं ऐसा कर पाया. बताइए, जिस इंसान के द्वारा महीनो में कभी एक बार ब्लॉग पर आना मुमकिन होता था, वो एक महीने से लगातार ब्लॉग लिख रहा है,ये सोचकर ही कितना अजीब लगता है, क्यूंकि ऐसा कर पाना पहले पहल बहुत ही नामुमकिन लगता था.

पहले पहल इस बात का डर होता था की कैसे हर दिन एक ब्लॉग, अपनी भावनाएँ, अपनी सोच, घटनाऍ, आज की विचारधारा और चीज़ों के बारे में लिखूंगा, मगर ख़ुशी है की मैंने इस नियम को बरकरार रखा है और आगे भी रख पाने की कामना करता हूँ.

No comments:

Post a Comment